Tuesday, 16 June 2009

पंजाबी पत्रिका मिन्नी से जान-पहचान


पंजाबी लघुकथा की विकास-यात्रा में पत्रिका ‘मिन्नी’ का विशेष योगदान रहा है।
• त्रैमासिक पत्रिका ‘मिन्नी’ का प्रवेशांक अक्तूबर 1988 में प्रकाशित हुआ था।
• लघुकथा विधा को समर्पित इस पत्रिका के 83 अंक पाठकों तक पहुँच चुके हैं।
• पत्रिका की और से प्रत्येक वर्ष ‘अंतर्राज्यीय लघुकथा सम्मेलन’ का आयोजन किया जाता है।

1 comment:

Nirmla Kapila said...

िस जानपहचान के लिये धन्यवाद्